वीडियो: घर के अंदर की वो जगह जहाँ शमशाद ने हिंदू माँ-बेटी को गाड़ दिया, अपने रिस्क पर देखें!

2 मिनट 9 सेकंड का वीडियो है, वीभत्स है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने जब खुदाई की तो माँ-बेटी का शरीर नहीं बल्कि टुकड़े निकल रहे थे। घर के अंदर, बेड के पास, सोफे के नीचे... काफी शातिराना ढंग से लाश को गाड़ा गया था।

0
288
Meerut Mother daughter killed buried video in meerut
2 मिनट 9 सेकंड के वीडियो से पता चलेगी मानसिकता!

उत्तर प्रदेश के मेरठ से डबल मर्डर का एक मामला सामने आया है। यहाँ शमशाद (कल तक मीडिया रिपोर्ट में दिलशाद लिखा गया था) नामक व्यक्ति ने प्रिया नाम की महिला और उसकी मासूम बेटी की हत्या कर दोनों ही लाश घर में ही दबा कर फरार हो गया था।

इस मामले में पुलिस ने आरोपित शमशाद पर 25000 हज़ार रुपए का इनाम रखा था। पुलिस ने अब उसे गिरफ्तार कर लिया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बताया जा रहा है उसने पुलिस कस्टडी से भागने की कोशिश की तो पुलिस ने आरोपित शमशाद को मुठभेड़ के बाद फिर से धर दबोचा है।

रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार (22 जुलाई, 2020) को पकड़े जाने के बाद शमशाद किसी तरह पुलिस हिरासत से बच निकला था। जिसके बाद पुलिस को सुबह 3.30 बजे शमशाद को लेकर सूचना मिली। पुलिस ने तुरंत इस पर कार्रवाई करते हुए ब्रह्मपुरी के नूर नगर के मोड़ पर आरोपित शमशाद को घेर लिया। पुलिस से घिरता देख शमशाद ने उन पर गोली चला दी।

मुठभेड़ में शमशाद घायल हो गया। पुलिस ने घायल हत्या आरोपित को गिरफ्तार कर जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। साथ ही पुलिस ने उसके पास से एक बाइक, पिस्टल और कारतूस बरामद किया है। वहीं यूपी पुलिस ने अब आरोपित का घर भी बुलडोजर से ढहा दिया है।

https://twitter.com/swati_gs/status/1286212402665537536

घटनास्थल पर पुलिस ने जब माँ और बेटी की लाश को आरोपित के घर से बरामद किया था, उस वक्त की एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। यह वीडियो वीभत्स है, इसलिए इसे अपने रिस्क पर ही देखें।

https://twitter.com/sachingupta787/status/1286225957670367232

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पूरा मामला यह है कि प्रिया गाजियाबाद की रहने वाली थी। 12 साल पहले उसकी शादी मोदीनगर के खंजरपुर निवासी राजीव से हुई थी। लेकिन, 2 साल के बाद ही दोनों में तलाक हो गया। प्रिया की दोस्ती 2013 में अमित गुर्जर नामक युवक से हुई थी। ये दोस्ती प्यार में बदल गई।

अमित के बुलावे पर प्रिया अपनी 2 साल की बेटी को लेकर मेरठ भी चली गई। इसके 5 साल बाद प्रिया को कुछ ऐसा पता चला, जिससे उसकी पूरी दुनिया ही उजड़ गई। दरअसल, अमित गुर्जर के छद्म नाम से प्रिया को फाँसने वाले का असली नाम शमशाद था। अपने प्रेमी के बारे में हुए इस खुलासे से प्रिया सन्न रह गई।

गौरतलब है कि पीड़िता प्रिया किस तरह से शमशाद के झाँसे में आई, इस बारे रिपोर्ट के अनुसार यह सामने आया है कि प्रिया 2010 से ही मोदीनगर की चंचल चौधरी के साथ रहती थी। वहीं उसने ब्यूटी पार्लर खोल रखा था। यहीं फेसबुक पर उसकी अमित गुर्जर नामक व्यक्ति से दोस्ती हुई।

इसके बाद अमित ने शादी का झाँसा देकर प्रिया को मेरठ बुलाया था। यहाँ दोनों कांशीराम आवासीय कॉलोनी में रहते थे। यहाँ आने के बावजूद उसकी चंचल से बात होती रहती थी, इसीलिए चंचल को उसकी कहानी के बारे में सब कुछ पता था। शमशाद (अमित गुर्जर) परतापुर स्थित भूड़ बराल का निवासी है। वो प्रिया को जानबूझ कर अपने घर नहीं ले गया था।

Read More: लव जिहाद और वामपंथी नैरेटिव- हिंदू नारीवादी विमर्शों से ही खतरे का मुकाबला संभव

2 साल पहले प्रिया को अमित की सच्चाई के बारे में पता चला था और उसके बाद दोनों में जम कर विवाद हुआ था। एक तो उसने अपनी मुस्लिम पहचान छिपाई थी और ऊपर से वो शादीशुदा भी था।

प्रिया ने 2018 में खरखौदा थाने में बलात्कार का मुकदमा भी दर्ज कराया था। मेरठ एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि इस मामले में दोनों के बीच समझौता हो गया था। शमशाद का आरोप है कि युवती मुक़दमे के बाद से उससे रुपए वसूल रही थी।

चंचल ने इस मामले में 15 अप्रैल को परतापुर थाने में तहरीर दी थी। आरोप लगाया गया था कि चंचल से पुलिस ने समझौतानामा लिखवा दिया लेकिन बजरंग दल और विहिप के प्रयासों के बाद एसएसपी को इस मामले से अवगत कराया गया था।

हिंदूवादी कार्यकर्ताओं ने इसे ‘लव जिहाद’ का मामला बताया था। चंचल ने बताया कि 28 मार्च को उन दोनों के बीच आखिरी बातचीत हुई थी। उसके बाद चंचल ने शमशाद को फोन किया तो उसने बताया कि प्रिया ख़ुद कहीं चली गई है।

Follow and connect with us on Twitter, Facebook, and Youtube